कोरोना से हुई मौत पर मिलना चाहिए 4 लाख मुआवजा, महामारी को हल्के में ले रही सरकार

ऊना HNH | कांग्रेस नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा की कोरोना से हुई मौतों को प्राकृतिक आपदा मानते हुए प्रदेश सरकार प्रत्येक मृतक को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करे.

उन्होंने कहा कि कोरोना से हुई मौत सामान्य नहीं है. ऐसे में कोरोना से हुई मौत को प्राकृतिक आपदा घोषित करते हुए मृतक परिवारों को तत्काल यह राशि जारी की जानी चाहिए. मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों को लेकर कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी. इसका प्रदेश स्तर पर प्रदर्शन किया जाएगा.

मुकेश ने कहा कि कांग्रेस जिला भर में प्रदर्शन कर विरोध जताएगी. सरकार कोरोना को हल्के में ले रही है. न तो लोगों को कोई सुविधाएं दे रही है और न ही किसी प्रकार से किसी की मदद की जा रही है. प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने में जयराम सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है.

अव्यवस्था के आलम के चलते जहां रोगियों की मौत हो रही है, वहीं सामान्य बीमारियों में भी इलाज न मिलने से लोग मर रहे हैं. उन्होंने कहा कि 500 वेंटिलेटर पेटियों में बंद हैं, जिन्हें चलाने वाला कोई नहीं है. प्रदेश की जनता राम भरोसे चल रही है. उन्होंने कहा कि कोरोना के इस संकट के दौर में जनता के बीच स्वास्थ्य सुविधाओं से खौफ पैदा हो गया है.

स्वास्थ्य विभाग अपने कोरोना योद्धाओं को भी सुरक्षा देने में नाकाम है. डाक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मी को अपनी सुरक्षा खुद करनी पड़ रही है. नेता विपक्ष ने कहा कि पूरे प्रदेश में अब तक कोरोना से 255 मौतें दर्ज हुई हैं, जबकि आत्महत्याओं का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है.

शिमला में अचानक बढ़े कोरोना मामलों को लेकर हाई कोर्ट ने केंद्र को भेजा नोटिस