दशहरे में नाराज दिखे देवता नाग धुम्बल, कर चुके थे कोरोना की भविष्यवाणी

देवता नाग धुम्बल

कुल्लू HNH | अंतरराष्ट्रीय लोकनृत्य उत्सव कुल्लू दशहरा भगवान रघुनाथ की रथयात्रा के साथ आज रविवार दोपहर करीब चार बजे से शुरू हो चूका है. रथयात्रा के साथ सात दिवसीय दशहरा का विधिवत शुभारंभ हो चूका है.

इसी बीच दशहरा उत्सव में निमंत्रण न दिए जाने को लेकर देवता नाग धुम्बल बहुत नाराज दिखे. देवता ने रघुनाथ नगरी में पहुंचते ही अपनी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने अधिष्ठाता देवता रघुनाथ के समक्ष हाजिरी भरने के उपरांत कहा कि उन्हें किस-किस ने दशहरे में आने से रोका है.

उन्हें सब मालूम है. देवता ने कहा कि रामशिला में नाका लगाकर उन्हें रोकने की कोशिश की गई. लेकिन वह किसी नाके में रुकने वाले नहीं हैं. देवता ने कहा कि देव नीति में राजनीति हावी हो रही है. देवी-देवताओं की परंपराओं को तोड़ राजनीति की जा रही है. दशहरा देवताओं के मिलन का महाकुंभ है. लेकिन परंपरा के निर्वहन में ढील बरती जा रही है.

देवता ने कहा कि उन्होंने पहले ही कोरोना महामारी के प्रकोप की भविष्यवाणी की थी. लेकिन उनकी बात को दरकिनार किया गया. उन्होंने कहा था कि मनुष्य-मनुष्य से डरेगा. इस बात की वह भविष्यवाणी कर चुके थे और वर्तमान में वही हो रहा है. कोरोना काल में मनुष्य-मनुष्य से डर रहा है.