हिमाचल के पूर्व डीजीपी ने की खुदकुशी, शिमला में सुसाइड नोट के साथ लटका हुआ मिला शव

पूर्व डीजीपी ने की खुदकुशी
पूर्व डीजीपी ने की खुदकुशी

शिमला HNH | हिमाचल प्रदेश के पूर्व डीजीपी (अगस्त 2006 से 2008) अश्विनी कुमार का शव बुधवार शाम शिमला में उनके आवास पर लटका हुआ मिला. सूत्रों ने कहा कि वह हाल ही में मुंबई से लौटे थे, जहां वह डिप्रेशन का इलाज करवा रहे थे. अश्विनी कुमार अगस्त 2008 से नवंबर 2010 तक सीबीआई के निदेशक भी रहे थे. उन्होंने 70 साल की उम्र में खुदकुशी की.

शिमला स्थित ब्राकहास्ट में निजी आवास में अश्विनी कुमार का शव लटका हुआ पाया गया. हिमाचल के रहने वाले पूर्व आईपीएस अधिकारी ने यह खौफनाक कदम क्यों उठाया, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है. एसपी शिमला मोहित चावला की अगुवाई में पुलिस टीम मामले की जांच कर रही है.

हिमाचल के DGP संजय कुंडू का कहना है कि कुमार के परिवार के सदस्यों से बातचीत करते हुए पता चला की फ़िलहाल वह किसी तरह के डिप्रेशन में नहीं थे. लिहाजा पुलिस हर तरीके से जांच कर रही है.

मौके पर एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमे उन्होंने लिखा है की “मैं किसी पर बोझ नहीं बनना चाहता. मैं जिंदगी से तंग आकर अगली यात्रा पर निकल रहा हुं”.

अश्विनी कुमार का जन्म सिरमौर के जिला मुख्यालय नाहन में 15 नवंबर, 1950 को हुआ था. उन्होंने 2 अगस्त, 2008 से 30 नवंबर, 2010 तक सीबीआई प्रमुख के रूप में कार्य किया था.

अश्विनी कुमार बहुत से लोगों के लिए एक प्रेरणा थे. उन्होंने ऐसा भयानक कदम क्यों उठाया, इसका अभी कोई पता नहीं चल पाया है. उनकी खुदकुशी से हर कोई हैरान है.

यह भी पढ़ें: सोलन पुलिस ने कोरोना, यातायात नियमों के उल्लंघन की सूचना के लिए जारी किया व्हट्स ऐप नंबर