IGMC में डॉक्टरों ने 5 घंटे तक नहीं देखा मरीज, इंतजार करते करते हो गयी मौत

Ragging case in IGMC Shimla
डॉक्टरों ने 5 घंटे तक नहीं देखा मरीज

शिमला HNH | IGMC शिमला में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आयी है. यहां इलाज करवाने आयी एक महिला मरीज को डॉक्टरों ने 5 घंटों तक नहीं देखा. डॉक्टर का इंतज़ार करते करते मरीज की मौत हो गयी.

मिली जानकारी के अनुसार जुन्गा तहसील के कोटी गांव के रहने वाले राजू की मां की देर रात तबीयत खराब हो गई. उन्हें इलाज के लिए चायल अस्पताल ले जाया गया. यहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने महिला को IGMC रेफर किया. रात के करीब 12 बजे महिला मरीज IGMC पहुंची.

यहां करीब 5 घंटों तक किसी भी डॉक्टर ने महिला मरीज को नहीं देखा. महिला के बेटे राजू ने सोशल मीडिया पर IGMC प्रबंधन पर कई तरह के आरोप लगाए. बेटे ने बताया कि करीब 5 घंटे तक उसकी मां को अस्पताल में नहीं देखा गया.

जब मरीज की तबीयत ज्यादा खराब हुई तो वह डॉक्टर को बुलाने गया. लेकिन उस वक्त ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर सोते नजर आए. बाद में जब डॉक्टर आए, तब तक मरीज की मौत हो चुकी थी.

मामला उजागर होते ही IGMC प्रबंधन ने इस मामले पर जांच बैठा दी. यह मामला मंगलवार रात का बताया जा रहा है.

उधर, बेटे ने आरोप लगाया कि डॉक्टर की लापरवाही से ऐसा हुआ है. उन्होंने बताया कि रात के समय कोई भी सीनियर डॉक्टर ड्यूटी पर नहीं होता है. पीड़ित ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि आगे ऐसा किसी मरीज के साथ न हो, इसके लिए वह मामले की जांच कराएं.

IGMC के कॉलेज प्राचार्य डॉ. रजनीश पठानिया ने बताया कि इस मामले की जांच बैठा दी है. मेडिसन विभाग के अध्यक्ष को मामले से संबंधित जानकारी जुटाने के निर्देश दिए हैं. हालांकि प्रशासन के पास अभी तक किसी भी तरह की लिखित में शिकायत नहीं आई है.