Himachal News Hindi पर आपका स्वागत है.

हम कैसे व्यक्तिगत डेटा एकत्र करते हैं?

कमेंट (Comments)

जब कोई विज़िटर हमारी साइट पर कमेंट करता है, तो हम कमेंट फॉर्म के डेटा को एकत्र करते हैं. स्पैम कमेंट से बचने के लिए हम कमेंट करने वाले की Email id और नाम को एकत्र करते हैं.

कूकीज (Cookies)

यदि आप हमारी साइट पर एक कमेंट छोड़ते हैं, तो आप कुकीज़ में अपना नाम, ईमेल पता और वेबसाइट भरते हैं. यह आपकी सुविधा के लिए हैं ताकि जब आप अगली बार दूसरा कमेंट छोड़ें तो आपको अपना नाम और ईमेल पता दोबारा न भरना पड़े. यह कुकीज एक साल तक चलेंगी.

यदि आप “रिमेम्बर मी” का चयन करते हैं, तो आपका लॉगिन दो सप्ताह तक बना रहेगा. यदि आप लॉग आउट करते हैं, तो लॉगिन कुकीज़ हटा दी जाएंगी.

यदि आप हमारी वेबसाइट पर कोई आर्टिकल संपादित या प्रकाशित करते हैं, तो आपके ब्राउज़र में एक अतिरिक्त कुकी सेव हो जाएगी. यह 1 दिन के बाद समाप्त हो जाएगी.

अन्य वेबसाइटों से एंबेडेड कंटेंट

इस साइट के आर्टिकल में किसी अन्य वेबसाइट की एम्बेडेड सामग्री (जैसे वीडियो, चित्र, लेख आदि) शामिल हो सकते हैं. अन्य वेबसाइटों से एंबेडेड सामग्री ठीक उसी तरह से व्यवहार करती है जैसे कि दूसरी वेबसाइट पर करती है.

ये वेबसाइटें आपके बारे में डेटा एकत्र कर सकती हैं, कुकीज़ का उपयोग कर सकती हैं, अतिरिक्त ट्रैकिंग को एम्बेड कर सकती हैं, और यदि आपके पास कोई खाता है और उस वेबसाइट पर लॉग इन हैं, तो उस एम्बेडेड सामग्री के साथ अपनी सहभागिता पर नज़र रखने के लिए उस वेबसाइट को मॉनिटर करते रहें.

हम कब तक आपके डेटा को रखते हैं?

यदि आप कोई कमेंट छोड़ते हैं, तो कमेंट और उसके मेटाडेटा को अनिश्चित काल तक बनाए रखा जाता है.

यदि हमारी वेबसाइट पर कोई लाग-इन की ऑप्शन हैं तो हमारी वेबसाइट पर लाग-इन करने वाले उपयोगकर्ताओं के लिए, हम उनकी उपयोगकर्ता प्रोफ़ाइल में उपलब्ध व्यक्तिगत जानकारी भी संग्रहीत करते हैं. सभी उपयोगकर्ता किसी भी समय अपनी व्यक्तिगत जानकारी देख सकते हैं, संपादित कर सकते हैं या हटा सकते हैं (सिवाय इसके कि वे अपना उपयोगकर्ता नाम नहीं बदल सकते). वेबसाइट व्यवस्थापक उस जानकारी को देख और संपादित भी कर सकते हैं.

हम आपका डाटा कहाँ भेजते हैं?

हम आपका डाटा किसी के साथ भी शेयर नहीं करते. लेकिन स्पैम कमेंट को एक स्वचालित स्पैम डिटेक्शन सेवा के माध्यम से जांचा जा सकता है.