सोनिया गाँधी द्वारा किये गए अटल टनल के शिलान्यास की पट्टिका गायब, बताया बीजेपी की चाल

सोनिया गाँधी अटल टनल शिलान्यास
सोनिया गाँधी अटल टनल शिलान्यास
Image

कुल्लू HNH | 28 जून 2010 को यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा अटल टनल रोहतांग की नींव रखी गयी थी. हर शिलान्यास समारोह की तरह ही वहां भी शिलान्यास पट्टिका बनाई गयी थी. लेकिन 3 अक्टूबर 2020 को अटल टनल के उद्घाटन के दौरान यह शिलान्यास पट्टिका गायब कर दी गयी. यह शिलान्यास पट्टिका गायब करने को लेकर सियासत गरमा गई है.

जिला लाहौल-स्पीति कांग्रेस के अध्यक्ष ज्ञालछन ठाकुर ने शिलान्यास की पट्टिका गायब करने पर केलांग थाना में शिकायत दर्ज करवाई है. इससे पहले नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री भी इस मामले को उठा चुके हैं.

ज्ञालछन ठाकुर ने कहा की 28 जून 2010 को यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने धुंधी में इसका शिलान्यास किया था. लेकिन अब धुंधी में सोनिया गांधी की ओर से किए गए शिलान्यास की पट्टिका गायब है.

उन्होंने कहा की शिलान्यास पट्टिका को गायब करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. शिलान्यास पट्टिका को गायब करना भाजपा की सोची-समझी चाल है, जिसे कांग्रेस कभी बर्दाश्त नहीं करेगी. शिलान्यास पट्टिका गायब करना भाजपा की छोटी मानसिकता को दर्शाता है.

लाहौल-स्पीति महिला कांग्रेस की अध्यक्ष शशि किरण ने कहा कि सोनिया गांधी की पट्टिका गायब करना निंदनीय है. मनाली ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष हरिचंद शर्मा ने कहा कि उद्घाटन के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण को सिर्फ एक पार्टी तक ही सीमित रखा, जबकि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के समय में बजट स्वीकृत करवाकर तत्कालीन यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस सुरंग की आधारशिला 28 जून 2010 को रखी थी.

अब शिलान्यास पट्टिका को वहां से गायब कर दिया है. शिलान्यास पट्टिका को 15 दिनों के अंदर फिर से स्थापित किया जाए. अन्यथा मनाली कांग्रेस सड़कों विरोध प्रदर्शन करेगी.